Loading Now

ADMINISTRATOR MF FAROOQUI की अगुआई में पंजाब वक्फ बोर्ड का मुलाजिमों के लिए एक और बड़ा एतिहासिक फैसला

ADMINISTRATOR MF FAROOQUI की अगुआई में पंजाब वक्फ बोर्ड का मुलाजिमों के लिए एक और बड़ा एतिहासिक फैसला

जालंधर
मुख्यमंत्री भगवंत मान की अगुआई में पंजाब वक्फ बोर्ड लगातार मुस्लिम समुदाय और अपने कर्मचारियों की बेहतरी के लिए काम कर रहा है। जिस तरह पंजाब सरकार मुलाजिमों की समस्याओं को दूर करने में काम कर रही है उसी तर्ज पर वक्फ बोर्ड भी अपने मुलाजिमों की जिंदगी को अासान बनाने सहित उनकी परेशानियों को लगातार दूर कर रहा है। एक बार फिर से एडमिनिस्ट्रेटर जनाब एमएफ फारुकी ने मुलाजिमों के हक में बड़ा कदम उठाते हुए अपने मुलाजिमों के लिए बड़ा फैसला करते हुए उनकी सेलरी से लेकर विंटर अलाउंस जारी किया है। पिछले लंबे समय से पंजाब वक्फ बोर्ड के डाटा एंट्री ऑपरेटरों से लेकर ड्राइवर और दर्जा-4 कर्मचारियों की तरफ से अपनी कम सेलरी को लेकर एडमिनिस्ट्रेटर के समक्ष मांगों को उठाया जा रहा था। पंजाब वक्फ बोर्ड की तरफ से बुधवार को हुई मीटिंग में इन मांगों पर गहन विचार करने के बाद उनकी मांगों को स्वीकार किया गया है। जमील अहमद ने बताया कि पंजाब वक्फ बोर्ड के हैड अाफिस, जिला आफिस सहित स्कूल, कालेज और हजरत हलीमा अस्पताल में कुल 112 दर्जा-4 कर्मचारी मौजूद है। इन्हें 5 लाख 60 हजार रुपए का वन टाइम विंटर अनाउंस जारी किया गया है। जिसके तहत प्रत्येक मुलाजिम को 5 हजार रुपए मिलेंगे। इसके अलावा बोर्ड के 21 डाटा एंट्री आपरेटर और 13 ड्राइवर है। प्रत्येक मुलाजिम की 4 हजार रुपए महीना सेलरी बढ़ाई गई है। उन्होंने बताया कि महंगाई को देखते हुए डाटा एंट्री आपरेटर को पहले 9 हजार मिलते थे जिन्हें अब 13 हजार जबकि ड्राइवरों को करीब 12 हजार सेलरी थी जिनकी बढ़ाकर 16 हजार रुपए की गई है। उन्होंने बताया कि पंजाब वक्फ बोर्ड के 4 हजार रुपए सेलरी ग्रोथ के बाद प्रत्येक महीने 1 लाख 36 हजार जो सालाना 16 लाख 32 हजार रुपए का बोझ पड़ेगा।
पंजाब वक्फ बोर्ड के एडमिनिस्ट्रेटर एमएफ़ फारूकी एडीजीपी ने कहा कि मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान की अगुआई में वक्फ बोर्ड लगातार बेहतरीन काम कर रहा है। उनका मुख्य काम अपने मुलाजिमों की जिंदगी को अासान बनाना भी है जिसके लिए समय-समय पर बेहतर फैसले लिए जा रहे है। पिछले महीनों पुलिस की तर्ज पर अपने मुलाजिमों और फैमिली सुरक्षित करने के लिए इंश्योरेंस के अधिकार मुहैया करवाए गए थे जबकि उससे पहले वक्फ बोर्ड की तरफ से अपने मौलाना सहित अन्यों की सेलरी में दोगुणा बढ़ौतरी के साथ उन्हें ताउम्र के लिए 3 हजार रुपए की पेंशन भी लगाई गई थी। उन्होंने बताया कि अाने वाले दिनों में वक्फ बोर्ड लगातार मुलाजिमों की बेहतरी को लेकर बड़े फैसले लेने जा रहा है जिससे उनकी जिंदगी आसान होगी।

Share this content:

Post Comment