Loading Now

15 साल पुरानी वक्फ बोर्ड की डिमांड होगी पुरी, मिलेगा अपना स्टेट कार्यालय, रुरल डेवलपमेंट व पंचायती विभाग करेगा निर्माण, ड्राइंग तैयार

15 साल पुरानी वक्फ बोर्ड की डिमांड होगी पुरी, मिलेगा अपना स्टेट कार्यालय, रुरल डेवलपमेंट व पंचायती विभाग करेगा निर्माण, ड्राइंग तैयार

Jalandhar: मुख्यमंत्री भगवंत सिंह मान की अगुआई में लगातार पंजाब वक्फ बोर्ड पंजाब में मुस्लिम समुदाय की समस्याओं को दूर करने के लिए बेहतरीन काम कर रहा है। पिछले करीब एक साल में पंजाब वक्फ बोर्ड ने कई एतिहासिक फैसले लेकर पंजाब सरकार की अगुआई में वक्फ बोर्ड की छवि कोबेहतर बनाते हुए पारदर्शिता के साथ काम किया है। अब सालों पुरानी अपनी डिमांड को पूरा करते हुए पंजाब वक्फ बोर्ड अपना स्टेट अाफिस तैयार कर रहा है। जिसे लेकर वीरवार को पीएपी कांप्लेक्स में एडमिनिस्ट्रेटर कम एडीजीपी एमएफ फारुकी की अगुआई में अहम मीटिंग की गई। जिसमें तेजिंदर सिंह मुलतानी एसई रुरल डेवलपमेंट व पंचायती विभाग, कंवलप्रीत सिंह पूर्व इंजीनियर रुरल डेवलपमेंट, नौशाद अहमद असिस्टेंट इंजीनियर, कनव खोसला कंस्लटेंट, अाफिशिएटिंग सीईओ डॉ. मोहम्मद असलम मौजूद रहे। करीब 1 घंटे तक चली मीटिंग में हैड अाफिस के नकशे को पूरी तरह से रिव्यू किया गया। जिसमें कुछ बदलाव के साथ इसे फाइनल किया गया।

जीरकपुर में पंजाब वक्फ बोर्ड की अपनी करीब 1 एकड़ से ज्यादा जगह में हैड अाफिस का निर्माण किया जा रहा है जिसमें 60 फीसदी हिस्से में हैड अाफिस और 40 फीसदी हिस्से में मस्जिद का निर्माण होगा। तेजिंदर सिंह मुलतानी एसई ने बताया कि बिल्डिंग पूरी तरह से नई तकनीक के तहत बनाई जा रही है। जिसमें बेसमेंट की सुविधा और 150 मुलाजिमो के बैठने के िलए राउंड टेबल कान्फ्रेंस हाल भी होगा। बिल्डिंग के अंदर सभी मुलाजिमों को अलग से कैबिन मिलेंगे और पेनट्री की सुविधा भी रहेगा। टॉप फ्लोर पर रिकार्ड रुम का निर्माण किया जाएगा। बिल्डिंग में 50 से ज्यादा कार पार्किंग और 100 प्लस टू व्हीलर पार्किंग की व्यवस्था होगी। बिल्डिंग को सोलर एनर्जी से लैस किया जाएगा और रेन वाटर हार्वेस्टिंग सिस्टम, आटोमेटिंग लाईटिंग सिस्टम भी होगा। इसके अलावा पूरा अाफिस ग्रीनरी से भरपूर रहेगा। जिसके लिए अलग से बागबानी विभाग काम कर रहा है। प्रोजेक्ट की पूरी निगरानी रुरल व पंचायती विभाग की अगुआई में फाइनल किया जाएगा। उम्मीद है कि जब प्रोजेक्ट शुरू होगा उसके 1 साल में इसे खत्म किया जाएगा। इस पूरे प्रोजेक्ट की करीब 30 करोड़ रुपए अनुमानित लागत तय की गई है। उन्होंने बताया कि वीरवार की मीटिंग में एडीजीपी एमएफ फारुकी की तरफ से कुछ बदलाव किए गए है जो अहम है। अब जलद से इस प्रोजेक्ट की ड्राइंग दोबारा से तैयार करवाकर इसे फाइनल किया जाएगा। मौजूदा स्थित में पंजाब वक्फ बोर्ड का हैड अाफिस सेक्टर 22बी चंडीगढ़ में है जिसका करीब 3 लाख रुपए रेंट वक्फ बोर्ड की तरफ से दिया जा रहा है। पिछले 15 सालों से वक्फ बोर्ड की तरफ से हमेशा खुद की जगह पर हैड अाफिस निर्माण करने की योजना चल रही थी जिसे एडीजीपी एमएफ फारुकी की अगुआई में अब जलद शुरू किया जाएगा।

Share this content:

Previous post

खांबड़ा कब्रिस्तान में कब्र खोदने जा रहे मुस्लिम भाईचारे को चर्च के करिंदों ने रोका, नहीं दफन की जा सकी लाश

Next post

अल्पसंख्यक आयोग पंजाब के चेयरमैन ने अमृतसर, जीरा, गढ़शंकर व चंडीगढ़ से आए लोगों की शिकायतें सुनीं

Post Comment