पंजाब वक्फ बोर्ड की नाक तले शहर की प्राइम प्रॉपर्टी पर हो रहा कब्जा, ‘स्टेटस को’ लगा होने के बावजूद किया जा रहा अवैध निर्माण

पंजाब वाकफ बोर्ड की तरफ से कारवाई ना करना भी खड़े कर रहा सवालिया निशान

0
17

जालंधर। नकोदर चौक स्थित पंजाब वक्फ बोर्ड की एक बेशकीमती कॉलोनी में ताजा ताजा ‘स्टेटस को’ लगा है, जिसके बावजूद भी रविवार को छुट्टी का दिन देखते हुए कब्जा धारियों ने नीव खोदना शुरू कर दिया, एक षड्यंत्र के तहत कालोनी के अंदर कब्जा करने की नीयत से उक्त जगह पर भारी संख्या में ईंटें 4 दिन पहले से ही रखी गई है जिस की जानकारी पंजाब वक्फ बोर्ड के अधिकारियो को भी है लेकिन कोई कार्रवाई नहीं कर रहे। कब्जाधारी जब नीव खोद रहे थे तभी उक्त जगह पर कुछ कब्जा धारियों ने कब्जा करने से मना कर दिया। लेकिन अंदर मौजूद एक पुराना मुस्लिम लीडर जो यह कहता है कि पंजाब वक्फ बोर्ड उसकी जेब में है और पंजाब वक्फ बोर्ड के उच्च अधिकारियों के साथ अपने अच्छे संबंध होने का दावा करता है, वह लगातार कब्जा धारियों को सपोर्ट कर रहा है। सूत्रों के हवाले से पता लगा है कि उस मुस्लिम नेता द्वारा पैसे लेकर पंजाब वक्फ बोर्ड की जमीन पर प्लाट काटे जा रहे हैं और लोगों को लगातार ठगते हुए अवैध तरीके से कब्जा दिया जा रहा है।
अब सवाल यह उठता है की उक्त जगह की अगर लीज हुई है तो अपराधी पंजाब वक्फ बोर्ड है। क्योंकि हाईकोर्ट ने पूरी कॉलोनी को खाली कराने का आर्डर दिया था लेकिन वक्फ बोर्ड की ढीली कार्रवाई यह सवाल खड़ा कर रही है कि कोर्ट के निर्देश होने के बावजूद तय समय में उक्त जगह को खाली क्यों नहीं करा सका और संबंधित उक्त मुस्लिम नेता इसका सटे ले आए अब इस जगह पर स्टेटस को लगा हुआ है।


एडमिनिस्टर फैयाज फारुकी की साख पर लग रहा सवालिया निशान
पंजाब वक्फ बोर्ड को लंबे समय बाद मोहम्मद फयाज फारुकी के रूप में एक ईमानदार और बेहतर एडमिनिस्ट्रेटर मिला है जिन्होंने पंजाब वक्फ बोर्ड के रेवेन्यू को पहली बार 50 करोड से ज्यादा बढ़ाया है और लगातार मस्जिद कब्रिस्तान और मदरसों की बेहतरी के लिए कार्य कर रहे हैं लेकिन हैरानी की बात है कि जालंधर में उनका ऑफिस होने के बावजूद शहर की प्राइम प्रॉपर्टी पर लगातार कब्जे हो रहे हैं जिस पर पंजाब को वोर्ड का खामोश रहना कई सवाल खड़े कर रहा है। पंजाब वक्फ बोर्ड की दर्जनों ऐसी प्रॉपर्टी है जिनसे अभी तक ना किराया लिया जा रहा है और ना ही उन्हें रेगुलर लीज की जा रही है।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here